Thursday, July 19, 2007

राष्ट्रपति के हाथों रामनाथ गोयनका अवार्ड लेते रवीश






रवीश के कुछ यादगार पल









राजदीप (ऊपर) और माता-पिता व पत्नी के साथ रवीश

18 comments:

Sanjeet Tripathi said...

रवीश जी को फ़िर से बधाई और आपका शुक्रिया!!

Udan Tashtari said...

बहुत बढ़िया लगा भाई को सम्मनित होता देख. यह हम सब के लिये सम्मान का विषय है कि हम रविश भाई से जुडे हैं.

रविश भाई को पुनः बहुत बहुत बधाई और अनेकों शुभकामनायें कि भविष्य में ऐसे ही उन्नति के पथ पर अग्रसर होते रहें.

उमाशंकर जी को साधुवाद कि उन्होंने तस्वीरें हम तक पहुंचाई.

बहुत खुशी मिली.

अनूप शुक्ल said...

फ़िर् से बधाई। यह् खुशी की बात् है रवीशजी को अपनी काबिलियत् की इनाम् एक् काबिल् शख्स् से मिला।

अरुण said...

बहुत अच्छा लगा आप्का फ़ोटो दिखाना.रवीश कॊ फ़िर से बधाईया :)

काकेश said...

पुन: बधाई.

Debashish said...

साथी चिट्ठाकार रवीश को हार्दिक बधाई! हमें गर्व है कि रवीश ने हम हिन्दी ब्लॉगारों को भी यह अनूठा सम्मान दिलाया है।

संजय बेंगाणी said...

तस्वीरें देख प्रसन्नता हो रही है. बधाई हो रवीश भाई. आप ऐसे ही प्रगतिपथ पर अग्रसर रहें. हमारी शुभकामनाएं.

bhuvnesh said...

बधाई रवीशजी को...

अफ़लातून said...

रवीश जी को हार्दिक शुभकामना ।

Raviratlami said...

रवीश जी को एक बार फिर से बधाईयाँ!

Srijan Shilpi said...

अच्छा लगा, रवीश जी को पुरस्कृत होते देख। एक बार फिर से बधाई!

इसी समारोह में हिन्दी (प्रिंट) के लिए मेरी सहकर्मी रह चुकी भाषा सिंह, आउटलुक (हिन्दी) भी पुरस्कृत हुईं। उसे भी बधाई !

Sagar Chand Nahar said...

रवीश कुमार जी को बहुत बहुत बधाई।

उन्मुक्त said...

चित्र देख कर अच्छा लगा।

Rama said...

रवीश जी को बधाई लेकिन यहां बधाई उनको (उमाशंकर) जिन्होंने रवीश जी के उन यादगार पलों को सबके सामने रखा.
अच्छा लगा.

Shrish said...

क्या ये कस्बा वाले रवीश जी ही हैं या कोई अन्य व्यक्ति? फोटो तो अलग सी लग रही है।

अगर ये हमारे चिट्ठाकार साथी रवीश जी ही हैं तो बहुत प्रसन्नता की बात है, उन्हें बहुत-बहुत बधाई!

pawan lalchand said...

umashankarji aapko sadhuvad jo apne ravishji ki tasveere hamse banti.

उमाशंकर सिंह said...

बिल्कुल श्रीश भाई, ये अपने कस्बा वाले ही हैं।

Pushpa Tripathi said...

Raveesh ji ko haardik shubhkaamnayen.