Sunday, April 25, 2010

पाकिस्तान उस इलाक़े का दौरा जहां तालिबान नें जड़ें जमायीं...

अभी कुछ घंटे पहले पाकिस्तान से लौटा हूं। यूं तो ये मेरा चौथा दौरा था लेकिन कई लिहाज़ से ये अद्वितीय था। बाजौर के उस इलाक़े में जाना जो हाल तक तालिबान ने अपना गढ़ बना रखा हो...

3 comments:

Udan Tashtari said...

थोड़ा विस्तार से वृतांत सुनायें..जब समय मिले.

abrar ahmad said...

कैसे हैं उमा भाई। पाक यात्रा के बारे में कुछ और लिखें। वहां अभी जाना तो नहीं हुआ मगर जानने की इच्छा जरूर होती है वहां के बारे में।

rubaroojai said...

pak ki yatra kabhi nahi ki , lekin koi apna vaha ke bare me sunata hai to achha lagta hai